Self Discipline

आत्म अनुशासन

व्यक्तिगत सफलता, उपलब्धि, या किसी लक्ष्य को पाने के लिए आत्म अनुशासन बहुत जरुरी है। आत्म अनुशासन के जरिये से ही हम व्यक्तिगत उत्कृष्टता हासिल कर सकते हैं।

 आत्म अनुशासन क्या है ?

आत्म अनुशासन आवेगों, भावनाओं, इच्छाओं, और व्यवहार पर नियंत्रण करने की क्षमता है। यह तत्काल खुशी और तत्काल परितोषण को नज़रंदाज़ करने की छमता है जिससे की लम्बी अवधी में हम उच्च और अधिक सार्थक लक्ष्यों को प्राप्त कर सकें। अपने भावनात्मक हालत की परवाह किए बिना उचित कार्रवाई करने की क्षमता को भी हम आत्म अनुशासन कह सकते हैं।

आत्म अनुशासन के फायेदे

1. लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित रहता है।

2. व्यक्ति अधिक उत्पादक, अधिक प्रभावी और अधिक कुशल बनता है।

3. उच्च स्तर पर प्रदर्शन।

4. एक मजबूत मानसिकता विकसित होती है।

आत्म अनुशासन एक बहुत शक्तिशाली उपकरण है जिसके सही इस्तेमाल से आप अपने सपनों को साकार कर सकते हैं। चार प्रमुख तत्व है जो आत्म अनुशासन को पनपने में मदद करतें हैं।

1. आत्मसंयम। हमारी भावनाओं, कार्यों, विचारों, शब्दों, और व्यक्तिगत दिशा को नियंत्रित करने का काम करता है।

2. अभिप्रेरण। “अंदर की आग”, जो हमारे प्रयासों और उपलब्धियों को प्राप्त करने के लायक बनाती है।

3. धुन। प्रतिकूल परिस्थितियों में अपना काम जारी रखने की क्षमता। विफलता को भुला कर हमारे लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित रखने की क्षमता।

4. लक्ष्य। ठोस उपलब्धियों जो हमारे खुशी और सफलता की परिभाषा को जन्म देती हैं।

आत्म अनुशासन हासिल करने के लिए हमारे जीवन में ये चारों तत्व मौजूद होने चाहिएं। हर प्रयास में हमारी सफलता को सुनिश्चित करने के लिए हमें अपने जीवन में इन चार तत्वों को बढावा देना होगा।

आप कैसे आत्म अनुशासित बन सकते हैं ?

आत्मसंयम

“मैं उसे साहसी मानता हूँ जो अपनी इच्छाओं पर काबू पाता है। सबसे कठिन जीत स्वयं पर विजय पाना है।”

Aristotle (384 – 322 B.C.)

आत्म – नियंत्रण की तकनीक

1. निजी सूची। एक शांत और निजी जगह पर कागज और कलम के साथ बैठें और अपनी बुरी आदतों और विनाशकारी प्रविर्तिओं की एक सूचि तैयार करें।

2. छोटी शुरुआत करें। प्रत्येक आदत या लालसा को प्रत्येक दिन थोडा थोडा कम करें। अपनी प्रगति की एक पत्रिका रखें और विनाशकारी व्यवहार को नष्ट करने के लाभों के बारे में अपने आप से बात करें।

3. आत्मोत्सर्ग (self denial). अपने आप को प्रत्येक दिन एक निश्चित आनंद से वंचित रखें। एक दैनिक गतिविधि लक्षित करें जैसे की टीवी देखना या अत्यधिक खाना।

4. एक अनुसूची रखें। दैनिक कार्यक्रम की अनुसूची लिखें और उसको पूरा करनें के लिए प्रतिबद्ध रहें।

5. समीक्षा। प्रत्येक दिन के अंत में अपने काम की समीक्षा करें।

अभिप्रेरणा

प्रेरणा ईंधन है जो कि हमारी सफलता की इंजन को अभियान देता है। मजबूत प्रेरणा अंतर्निहित शक्ति है जो दुनिया की सबसे बड़ी उपलब्धियों को पाने में मदद करती है। प्रेरणा उन कर्रवाई, विचारों, और स्थिति यों के लिए ज़िम्मेदार है जो कि एक व्यक्ति को विशिष्ट उपलब्धि की ओर निर्देशित करती है। एक सफल व्यक्ति महानता और सफलता की जिन्दगी जीता है क्योंकि वो अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रेरित रहता है। जब आप वास्तव में अपने जीवन में कुछ आदतों और व्यवहार को नियंत्रित करने की इच्छा रखते हैं तो आप आत्म अनुशासन की और अग्रसित होते हैं। विशिष्ट क्षेत्रों में अपनी प्रेरणा को मजबूत बनाने के लिए विभिन्न तकनीकों और स्थितियों का उपयोग करें। आत्म नियंत्रण और प्रेरणा पर ध्यान केंद्रित करके आप आत्म अनुशासन के लिए दरवाजे खोलने की उम्मीद कर सकते हैं।

धुन और दृढ़ता

“धीरज सबसे कठिन विषयों में से एक है, लेकिन जो धीरज रखता है अंतिम जीत उसी की होती है।”

Buddha (568 – 488 BC)

हठ या धुन एक लक्ष्य को पाने के लिये लगातार प्रयास करना है, इसके बनिस्पत की आप बार बार विफल हो रहे हों। आत्म अनुशासन विफलता का सामना किये बिना नहीं आता है। धुन और दृढ़ता के माध्यम से हीं हम विफलता को हरा सकते हैं। नीचे दी हुई कहानी पढिये।

वाल्ट डिज्नी (Walt Disney) वो व्यक्ति हैं जिन्हों ने हमें डिज्नी वर्ल्ड और मिकी माउस दिया। उनकी पहली एनीमेशन कंपनी दिवालिया हो गयी थी। वह एक समाचार संपादक के द्वारा से निकाल दिये गए थे क्योंकि उस समाचार संपादक के मुताबिक़ उनमें कल्पना का अभाव था। किंवदंती है की उन्हें 302 बार डिज्नी वर्ल्ड बनाने के वित्तपोषण के लिए मना कर दिया गया था। विफलता के बावजूद लगातार कोशिश करने से हीं उन्हें सफलता मिली जो आज विश्व विख्यात है।

आत्म अनुशासन के चार तत्वों में से धुन और दृढ़ता शायद सबसे शक्तिशाली तत्व है, क्योंकि धुन के बिना आप सफलता अनुभव नहीं कर पायेंगे। यदि आप मानसिक रूप से अपने आप को कोशिश करते रहने के लिये प्रेरित करते रहते हैं, चाहे जो भी हो आप सफल जरूर होंगे। अपनी सुविधा क्षेत्र से बहार निकल कर अपनी शारीरिक और मानसिक सीमाओं का परीक्षण शुरू करें। धुन और दृढ़ता आपको आत्म अनुशासन में जरूर सफल बनायेगी।

लक्ष्य

अत्यधिक सफल लोग , दुनिया के नेताओं, महान कलाकारों, और इतिहास के महत्वपूर्ण सफल मनुष्य में एक आम बात है। वे दैनिक आधार पर अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिये आत्म अनुशासन का उपयोग करते हैं। स्पष्ट और विशिष्ट लक्ष्य आत्म अनुशासन की आवश्यक नींव है और इसीसे हम अपने जीवनकाल में स्वास्थ्य, धन, और दीर्घायु पा सकते हैं। आत्म अनुशासन उन्मुख लक्ष्य आत्म – नियंत्रण, प्रेरणा,और दृढ़ता के लिए आवश्यक हैं।

आपको यह समझना चाहिए कि केवल कुछ चाहना पर्याप्त नहीं है। आपको अपने लक्ष्य को पाने के लिए ध्यान केन्द्रित करना पड़ेगा और उसके प्रति उचित कारवाई करनी पड़ेगी।

आत्म – अनुशासन की अद्भुत शक्ति आपके जीवन को बदल सकता है। आत्म अनुशासन निश्चित रूप से आप के जिन्दगी में बदलाव ला सकती है अगर आप सही प्रकार से ऊपर दिए हुए चार तत्वों का सही उपयोग करते हैं। अपने धन, ख़ुशी, और अपने प्रियजनों के जीवन को बढ़ाने के लिए आत्म अनुशासन की शक्ति का उपयोग करें, आपको अवश्य फ़र्क़ नजर आयेगा।

 

2 Responses to Self Discipline

  1. brajesh bhati March 17, 2013 at 6:46 pm #

    Meri jindgi ki sabse badi problem h,ki muje kisi bhi naye or ajnabi person se baat karne me bahut dar lagta h…to plz sir tell me,,how to tallk any unknown person to firstly..how to start tallking

    • himanshu January 6, 2015 at 3:51 pm #

      mujhe to naye logo se baat karna aur naye jagah me jaana bahut achha hi lagata hai ,kyuki naye logo se mine me ek naya idea milta hai aur ek naya point of view milta hai ki log is tarike se bhi soch dakte hai

Leave a Reply

Password Reset
Please enter your e-mail address. You will receive a new password via e-mail.